Showing 201–250 of 202429 results

10-CBSE-Light Reflection & Refraction

SKU: Mag-2396

Nature of light, theory of light, rectilinear propagation of light, reflection of light: regular & irregular reflection, laws of reflection, reflection of light on plane surface, characteristic of image formed by a plane mirror, use of plane mirrors, Reflection at spherical surface or mirrors, Concave & Convex mirrors, Terminologies associated with spherical mirrors, Sign Convention for Spherical Mirrors, Formation of Image by Concave Mirrors, Formation of Image by Convex Mirrors, Use of Concave & Convex mirrors, Mirror formula and magnification, Refraction of light, Cause of Refraction, Optically Rarer and Denser Medium, Laws of Refraction of Light, Refraction through a Rectangular Glass Prism, Lateral Displacement, Principle of Reversibility of Light, Real and Apparent Depth, Optical Phenomenon due to Refraction, Multiple Images in Thick Glass Mirror, Total Internal Reflection, critical angle, Conditions for total internal reflection, Relation between Critical Angle and Refractive Index, Factors affecting Critical Angle, Simple effects of Total Internal Reflection, Total Internal Reflection in Prism, Isosceles Right-Angled Glass Prism, Erecting or Non-Deviating Prism, Applications of Total Internal Reflection, Deviation of light by a Prism, angle of minimum deviation, use of Total Internal Reflection in Prism, Periscope, Binoculars, Optical Fibre, Spherical Lens, Classification of lens: Convex & Concave, Convergent Action of Convex Lens, Divergent Action of Concave Lens, Terminology Used in Spherical Lenses, Sign Convention for Spherical Lenses, Rules for obtaining geometric construction of images formed by a convex and cancave lens, Formation of Image by a Convex and cancave Lens, Determination of focal length of convex lens by a plane mirror method, Lens Formula, Magnification, Power of a lens

10-ICSE-Light Reflection & Refraction

SKU: Mag-2397

Nature of light, theory of light, rectilinear propagation of light, reflection of light: regular & irregular reflection, laws of reflection, reflection of light on plane surface, characteristic of image formed by a plane mirror, use of plane mirrors, Reflection at spherical surface or mirrors, Concave & Convex mirrors, Terminologies associated with spherical mirrors, Sign Convention for Spherical Mirrors, Formation of Image by Concave Mirrors, Formation of Image by Convex Mirrors, Use of Concave & Convex mirrors, Mirror formula and magnification, Refraction of light, Cause of Refraction, Optically Rarer and Denser Medium, Laws of Refraction of Light, Refraction through a Rectangular Glass Prism, Lateral Displacement, Principle of Reversibility of Light, Real and Apparent Depth, Optical Phenomenon due to Refraction, Multiple Images in Thick Glass Mirror, Total Internal Reflection, critical angle, Conditions for total internal reflection, Relation between Critical Angle and Refractive Index, Factors affecting Critical Angle, Simple effects of Total Internal Reflection, Total Internal Reflection in Prism, Isosceles Right-Angled Glass Prism, Erecting or Non-Deviating Prism, Applications of Total Internal Reflection, Deviation of light by a Prism, angle of minimum deviation, use of Total Internal Reflection in Prism, Periscope, Binoculars, Optical Fibre, Spherical Lens, Classification of lens: Convex & Concave, Convergent Action of Convex Lens, Divergent Action of Concave Lens, Terminology Used in Spherical Lenses, Sign Convention for Spherical Lenses, Rules for obtaining geometric construction of images formed by a convex and cancave lens, Formation of Image by a Convex and cancave Lens, Determination of focal length of convex lens by a plane mirror method, Lens Formula, Magnification, Power of a lens

100 Best Biscuits

SKU: Mag-27407

100 Cookies is the latest cookbook magazine from the kitchen of trendsetting food writer Herman Lensing. It is a showcase of tastiness with 100 recipes for each and everyone’s tastes and flavours. From famous traditional cookie hits to modern recipes. This book promises to keep the cookie jar filled this holiday season.

100 Idee per Ristrutturare

SKU: Mag-23578

100 Idee per Ristrutturare è uno strumento pratico e autorevole per ristrutturare la propria abitazione o, più semplicemente, rinnovarne gli ambienti. Ognuno di noi desidera una casa che rispecchi il proprio modo di essere: è così che ogni numero presenta idee e tendenze per la casa offrendo soluzioni accompagnate da un’ampia rassegna di prodotti. Inoltre, tanti consigli pratici dei nostri esperti guidano il lettore dagli interventi più semplici, anche solo per l’arredo, fino alle ristrutturazioni più profonde, dove si interviene sulla struttura dell’abitazione.

100 Kadam Safalta Ke

SKU: Mag-18805

100 Kadam Safalta Ke

100 THE MANDELA YEARS

SKU: Mag-17695

There are people who will argue that you do not need another book on Nelson Mandela. There has been so much written about him over the years and especially in the year when he would have celebrated his centenary.

But how much can one realistically pay tribute to, without doubt, the greatest South African who ever lived? How can we ever say thank you enough for all the hard work and sacrifice he made to ensure that South Africa becomes a free country? How can we ever thank him enough for his wisdom and humility?

When we produced the book to celebrate Madiba’s 90th birthday, he was still alive, even though he was retired. He has since passed on, but his message and his legacy will live on forever.

Mandela’s influence reached far wider than South Africa. In fact, it can be argued that he was truly a global leader who cared about the poor and downtrodden irrespective of where they were in the world.

In this book, we carry special messages from prominent and important people who talk about the impact
that he made on their lives and their careers. But we also look more generally at what made this man so special: from his special relationship with the people who were supposed to guard him at prison, to his unbridled love for children. We also look at the meaningful contribution he made to sport and arts and culture and, of course, the fashion industry with his trendsetting Madiba shirts.

At a time when many feel that we have lost our way on the democratic path that we set out on in the
early 1990s, it is important to learn from Madiba’s wise words and experiences. Hopefully, all of us will be inspired to get our country and our democracy back on track. Read this book, feel inspired and find the Mandela inside you.

100 Years of the Liver Birds

SKU: Mag-1949

Born in 1911, the world-famous Liver Birds celebrate a century of memories. They have seen and heard it all, perched high over Liverpool and the River Mersey. Happy 100th birthday!

100% Biker

SKU: Mag-8842

100% Biker is the UK’s best custom bike magazine – no ifs no buts. Launched in 1999, the magazine has firmly established itself as the prime mover and shaker on the British custom bike scene, documenting the very best bikes and lifestyle events.
Each issue of 100% Biker showcases the leading custom bikes from the UK and worldwide. From rats to streetfighters to out-and-out choppers, 100% Biker is the best place to find out what’s hot and what’s not. We go out of our way to cover the best events (rallies, shows and parties) from the biker calendar too – everything from the smallest one-dayer to the biggest bikerfestivals on the planet. Basically – if it’s on – it’s in!
Published 13 times a year, the magazine also features readers’ photographs, letters and jokes. We probably have the most comprehensive events listings anywhere in bikerdom, and we offer our readers the chance to sell their bikes free in the magazine too.

100%: The Story of a Patriot

“100%: The Story of a Patriot” dramatically recounts the adventures of a poor uneducated young man who lives by his wits and guile, as he becomes politicized during his involvement in the sometimes violent struggle between American ?patriots? and ?Reds?. The author wrote in the Appendix, which is not included in this recording: “Everything that has social significance is truth…. Practically all the characters in “100%” are real persons.” This exciting, polemical novel was published in 1920. Sinclair (1878-1968) wrote nearly 100 novels, many based on industrial abuse. One of his best known, “The Jungle”, was influential in initiating the regulation of food safety in the United States. He won the Pulitzer Prize for Fiction in 1943. (Lee Smalley)

100%: the Story of a Patriot by Upton Sinclair by Upton Sinclair

SKU: 9788184306634

The story of Peter Gudge, a poor young man who becomes embroiled in industrial spying and sabotage. Said to be based upon a real case of a bombing in San Francisco, Peter’s tale is compelling reading. Originally published by the author himself, “100%: The Story of a Patriot” is the story of a young man’s descent into fear and corruption, and eventual happy redemption.

1000 Ambedkar Prashnottari by Parijat Tripathi

SKU: 9788177213058

डॉ. भीमराव रामजी आंबेडकर (14 अप्रैल, 1891-6 दिसंबर, 1956) निश्चित ही भारत के सर्वाधिक प्रभावशाली सपूतों में से एक हैं। उन्होंने सभी विवशताओं को दृढ़ निश्चय और कमरतोड़ मेहनत से पार करके कोलंबिया विश्व-विद्यालय और लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिस से डॉटरेट की डिग्रियाँ तथा लंदन से बैरिस्टर की उपाधि प्राप्त की। तदुपरांत भारत लौटकर अर्थशास्त्री, समाजशास्त्री, मानवविज्ञानी, शिक्षाविद्, पत्रकार, तुलनात्मक धर्म के विद्वान्, नीति-निर्माता, प्रशासक तथा सांसद के रूप में अनन्यासाधारण योगदान दिया और एक न्यायविद् के रूप में भारतीय संविधान के प्रधान निर्माता-शिल्पकार के रूप में महान् कार्य किया। इन सबसे परे वे एक महान् समाज-सुधारक, मानव अधिकारों के चैंपियन और पददलितों के मुतिदाता थे, जिन्होंने अपना सारा जीवन आधुनिक भारत की नींव रखने में तथा नए भारत की सामाजिक चेतना को जगाने में समर्पित कर दिया। सन् 1990 में उन्हें मरणोपरांत भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ से विभूषित किया गया।
प्रस्तुत है डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर के प्रेरणाप्रद यशस्वी जीवन का दिग्दर्शन करानेवाली पुस्तक, जिसमें प्रश्नोत्तर के माध्यम से भारत निर्माण में उनके योगदान को रेखांकित किया गया है।

1000 Bharat Gyan Prashanottari by Sanjay Kumar Dwivedi

SKU: 9788177211337

1000 भारत ज्ञान प्रश्‍नोत्तरी—संजय कुमार द्विवेदी

किसी भी विषय की बढ़िया-से-बढ़िया पठन-सामग्री को उसके विस्तृत कलेवर के साथ पढ़ना और उसे याद करना कठिन होता है, परंतु यदि उसी सामग्री को प्रश्‍नोत्तर रूप में प्रस्तुत किया जाए तो वह अत्यंत रुचिकर हो जाती है और उसे सहजता से याद भी किया जा सकता है।
भारत जैसे विशाल एवं विविधतापूर्ण देश को 1000 प्रश्‍नों में समेट पाना निश्‍चय ही जोखिम भरा काम है। वस्तुनिष्‍ठ प्रश्‍नों का अपना एक दायरा होता है। इस स्थिति का आकलन करते हुए इस पुस्तक में प्रश्‍नों का चयन एवं प्रस्तुतीकरण इस तरह किया गया है कि पाठकों के समक्ष अधिक-से-अधिक जानकारी पहुँचाई जा सके। पुस्तक में शामिल किए गए अधिकतर प्रश्‍न ऐसे हैं, जिनमें कई उप-प्रश्‍न और उनके उत्तर छिपे हुए हैं।
प्रस्तुत पुस्तक को यथासंभव ज्ञानवर्धक एवं रोचक बनाने की कोशिश की गई है। प्रश्‍नों का चयन करते समय प्रत्येक विषय के हर पहलू को छूने की कोशिश की गई है। पुस्तक संतुलित हो, इसका भी हर संभव प्रयास किया गया है।
आशा है, भारत को भलीभाँति समझने में पुस्तक पाठकों की भरपूर मदद तो करेगी ही, भरपूर ज्ञानवर्द्धन भी करेगी।

1000 Bharatiya Sanskriti Prashnottari by Rajendra Pratap Singh

SKU: 8177210874

1000 भारतीय संस्कृति प्रश्‍नोत्तरी

‘1000 भारतीय संस्कृति प्रश्‍नोत्तरी’ पाठकों को भारतीय संस्कृति से संबद्ध—प्राचीन एवं नवीन—विभिन्न जानकारियों, वस्तुनिष्‍ठ तथ्यों व महत्त्वपूर्ण संदर्भों से परिचित कराएगी। इसे पढ़कर पाठकगण भारतीय संस्कृति से संबद्ध ग्रंथों व उनके रचनाकारों; महत्त्वपूर्ण तिथियों, दिवसों, पक्षों, माहों व व्रतों; विभिन्न अंकों से संबद्ध जानकारियों; रोमांचक जानकारियों; महापुरुषों, नारियों, देवी-देवताओं, प्रतीकों; साधु-संतों, ऋषि-मुनियों; स्थलों, नदियों, जीव-जंतुओं; मेले, पर्वों, त्योहारों व उत्सवों; नृत्य-नाट्य शैलियों, चित्रकला, गीत-संगीत, वाद्यों एवं वादकों, गायकों; अस्‍‍त्र-शस्‍‍त्रों, विभिन्न अवतारों; विभिन्न व्यक्‍तियों के उपनामों, उपाधियों व सम्मानों; संस्कार, योग, वेद, स्मृति, दर्शन एवं अन्यान्य ग्रंथों के संबंध में संक्षिप्‍त व महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ प्राप्‍त कर सकेंगे।
विश्‍वास है, प्रस्तुत पुस्तक सामान्य पाठकों के अलावा लेखकों, संपादकों, पत्रकारों, वक्‍ताओं, शिक्षकों, विद्यार्थियों और शोधार्थियों के लिए भी उपयोगी सिद्ध होगी। वस्तुत:, यह भारतीय संस्कृति का संदर्भ कोश है।

1000 Bhautik Vigyan Prashnottari by Sitaram Singh

SKU: 9788177211740

प्राचीन काल से ही मानव भौतिक जगत् में घटनेवाली प्राकृतिक घटनाओं, जैसे रात-दिन का होना, ऋतु में परिवर्तन होना, भूकंप के झटके लगना, ज्वालामुखी का विस्फोट होना, उल्कापात होना इत्यादि के कारणों को समझने का प्रयास करता रहा है। प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रूप से ये घटनाएँ मानव-जीवन को प्रभावित करती हैं। भौतिक विज्ञान के द्वारा इनका गहन अध्ययन किया जाता है।
विज्ञान विषयक एवं सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में भौतिकी के प्रश्‍न निश्चित रूप से शामिल रहते हैं। प्रस्तुत पुस्तक में भौतिक विज्ञान की प्रमुख शाखाओं से संबंधित विभिन्न अध्यायों, जैसे कि मापन, गति के नियम, कार्य, ऊर्जा और शक्‍ति, द्रवों का प्रवाह, दोलन, तरंगें, चुंबकत्व एवं चुंबकीय मापन इत्यादि के अंतर्गत वस्तुनिष्‍ठ प्रश्‍नों का संकलन किया गया है। विद्यार्थियों, प्रतियोगिताओं में शामिल हो रहे छात्र-छात्राओं एवं सामान्य वर्ग के पाठकों के लिए यह पुस्तक अत्यंत उपयोगी है।

1000 Bhoogol Prashnottari by Sachin Singhal

SKU: 8173155437

1000 भूगोल प्रश्नोत्तरी
वास्तव में ‘भूगोल’ शब्द का अर्थ बहुत व्यापक है। सौरमंडल, वातावरण, पर्यावरण, पृथ्वी, कृषि, वन, वन्यजीवन, उद्योग, जनसंख्या, खनिज, ऊर्जा आदि ऐसे अनेक विषय हैं जिसमें मानव की सदैव से रुचि रही है। इसी रुचि ने मानव को नए-नए ग्रह खोजने के लिए प्रेरित किया और वह इसमें सफल भी हुआ। प्रस्तुत पुस्तक में इस व्यापकता को पाठकों के लिए 1000 प्रश्नों में समेटने का प्रयास किया गया है। यद्यपि इतने कम प्रश्नों में इस विषय को समेटना एक असंभव कार्य है, परंतु सामान्य पाठक के ज्ञान के स्तर के अनुरूप अधिकांश महत्त्वपूर्ण तथ्यों से संबंधित प्रश्नों का समावेश प्रस्तुत पुस्तक में करने का प्रयास किया गया है।
प्रत्येक प्रश्न के चार संभावित उत्तर दिए गए हैं, जिनमें से एक उत्तर सही है। इससे पाठक अपनी तर्कशक्ति के आधार पर अपने ज्ञान को कसौटी पर परख सकते हैं।
प्रश्नोत्तरी शैली में लिखित यह पुस्तक भूगोल के विभिन्न पक्षों से पाठकों को परिचित कराती है। 1000 प्रश्नों के रूप में यह भूगोल के ज्ञान का पिटारा
खोलती है।

1000 Bihar Prashnottari by Aneesh Bhaseen

SKU: 9788177211283

प्राचीन समय में भारत को ‘सोने की चिड़िया’ कहा जाता था, वहीं बिहार को ‘ज्ञान की खान’—जहाँ ‘नालंदा’ तथा ‘तक्षशिला’ जैसे विश्वविद्यालय और चाणक्य जैसे आचार्य ज्ञान का वितरण करते थे। बिहार की पावन धरती अपने ऐतिहासिक गौरव, सांस्कृतिक वैभव, भौगोलिक संपन्नता, प्राकृतिक सुरम्यता, वन संपदा एवं जीव-जंतुओं की विविधता के कारण अनेक ऐतिहासिक घटनाओं की साक्षी रही है।
प्रस्तुत पुस्तक में बिहार से संबंधित समस्त जानकारी वस्तुनिष्ठ प्रश्नों के रूप में दी गई है। पुस्तक को तैयार करते समय बिहार से संबंधित उन सभी विषयों को सम्मलित करने का प्रयास किया गया है, जिनके बारे में पाठकों को बहुत कम जानकारी है। प्रस्तुत पुस्तक में बिहार का इतिहास, राजनीतिक संरचना, भौगोलिक स्वरूप, उद्योग-धंधे, कृषि, वन, पयर्टन, शिक्षा, कला एवं संस्कृति, पुरस्कार व सम्मान एवं खेलकूद इत्यादि से संबंधित एक हजार प्रश्न दिए गए हैं और हर प्रश्न के साथ चार विकल्प दिए गए हैं, जिनमें से एक सही है। ये एक हजार जानकारियाँ सीधे-सादे ढंग से भी दी जा सकती थीं, लेकिन इस स्थिति में पाठकों के अंदर उत्सुकता नहीं जागती और स्वयं उत्तर खोजने का आनंद भी उन्हें नहीं मिलता। यह विधि अधिक रुचिकर है।
एक तरह से बिहार का विश्वकोश है यह प्रश्नोत्तरी पुस्तक।

1000 Computer Internet Prashnottari by Vinoy Bhushan

SKU: 9788177213065

15 फरवरी, 1946 को ‘ एनियाक ‘ नामक कंप्यूटर दुनिया के सामने पहली बार आया था । तब से लेकर आज तक हमारे जीवन में कंप्यूटर का महत्व बढ़ता ही जा रहा है । इसके आकर्षण से क्या बच्चे, क्या बड़े-कोई नहीं बच पा रहा है । गणना करनी हो, गीत-संगीत सुनना हो, गप करना हो या फिर शोध करना हो, सबके लिए अपनी सेवाएँ देने हेतु सदैव तत्पर रहता है कंप्यूटर ।
इस पुस्तक में 1000 प्रश्‍नों के माध्यम से कंप्यूटर से संबंधित अनेक जानकारियाँ दी गई हैं । कंप्यूटर का आविष्कार, कंप्यूटर की पीढ़ियाँ, डिजिटल कंप्यूटरों का वर्गीकरण, कंप्यूटर : एक परिचय, सेकेंडरी मेमोरी, इनपुट/आउटपुट उपकरण, इंटरफेस, सॉफ्टवेअर, ऑपरेटिंग सिस्टम, डाटा संचार (कम्यूनिकेशन), कंप्यूटर नेटवर्क व्यवस्था, कंप्यूटर वाइरस एवं सुरक्षा प्रबंधन, सुपर कंप्यूटर, इंटरनेट, ई-मेल, एफ.टी.पी. और टेलनेट, कंप्यूटर और भारत तथा कंप्यूटर और कैरियर जैसे अध्यायों के द्वारा इस पुस्तक में कंप्यूटर की दुनिया की रोचक व रोमांचक यात्रा कराई गई है ।
यह पुस्तक कंप्यूटर के क्षेत्र से संबंध रखनेवालों, छात्रों, इंजीनियरों, शोधार्थियों तथा प्रतियोगी परीक्षाओं में बैठनेवाले प्रतियोगियों के लिए अत्यंत उपयोगी है ।